बर्फ़िया लाल जुवांठा राजकीय महाविद्यालय, पुरोला, उत्तरकाशी

संक्षिप्त परिचय

पुण्य सलिला माँ यमुना के पार्श्व में मनोरम पर्वत श्रंखलाओं की गोद में बसा हुआ जनपद उत्तरकाशी के विकासखंड पुरोला में स्थित है| बर्फ़िया लाल जुवांठा द्वारा राजकीय महाविद्यालय पुरोला की स्थापना 6 अक्टूबर 1993 को हुई थी| विज्ञान संकाय के पांच विषयों के भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, वनस्पति विज्ञान, जंतु विज्ञान के रूप में हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय गढ़वाल विश्वविद्यालय श्रीनगर गढ़वाल से सम्बद्ध है|

वर्ष 2012-13 में कला संकाय के अंतर्गत 7 विषयों हिंदी, अंग्रेजी, समाजशास्त्र, इतिहास, राजनीति विज्ञान, शिक्षा शास्त्र, अर्थशास्त्र में शासन द्वारा संचालन की सहर्ष स्वीकृति प्रदान की गई है| शैक्षणिक सत्र 2012-13 में ही गढ़वाल विश्वविद्यालय द्वारा पैनल निरीक्षण की स्वीकृति पर कला संकाय के उक्त सातों विषय की स्थाई संबद्धता प्रदान की गई| सन 2012-13 से ही छात्रों को प्रवेश दे कर कला संकाय प्रारंभ किया गया|

महा विद्यालय का अपना नवनिर्मित भवन है जिसमें प्रशासनिक भवन विज्ञान संकाय की प्रयोगशाला है तथा व्याख्यान कक्ष है महाविद्यालय में शिक्षण हेतु एडुसैट की व्यवस्था है शैक्षणिक कार्यों के अतिरिक्त छात्र-छात्राओं के सर्वांगीण विकास हेतु कई अन्य शिक्षण उत्तर कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं पठन-पाठन के लिए महाविद्यालय एक आदर्श वातावरण तैयार करने हेतु सतत प्रयासरत् है